Join Telegram Channel

Join WhatsApp Channel

आईएएस ऑफिसर कैसे बने In Hindi ।। How To Become IAS in 2023

Join Telegram Channel

Join WhatsApp Channel

ईएसएस आर्टिकल मैं हम जानेगे आईएएस ऑफिसर कैसे बने(How To Become IAS) । IAS का मतलब होता है भारतीय प्रशासनिक सेवा, जो भारत सरकार की सबसे वरिष्ठ और प्रतिष्ठित प्रशासनिक सेवाओं में से एक है। आईएएस ऑफिसर को देश की गवर्नेंस और पॉलिसी-मेकिंग में अहम रोल प्ले करना होता है।

आईएएस (IAS) क्या होता है ? || How To Become IAS

IAS (Indian Administrative Service) भारत में सबसे प्रतिष्ठित और सीनियर अधिनियमी सेवाओं में से एक है। इस सेवा का मुख्य उद्देश्य देश की सरकारी नीति निर्धारित करना, संचालित करना और उन्हें लागू करना होता है। IAS के अधिकारियों का काम लोगों को सेवा प्रदान करने और शासन के अंतर्गत निर्धारित कामों को प्रबंधित करना होता है।

IAS अधिकारी सरकारी नीति के अंतर्गत विभिन्न क्षेत्रों में काम करते हैं जैसे कि वित्तीय सेवाएं, वित्तीय नियोजन, कृषि नियोजन, शहरी विकास, शिक्षा, स्वास्थ्य और पर्यावरण आदि। IAS अधिकारियों को देश में नियुक्ति दी जाती है और वे राज्य सदर या विभिन्न क्षेत्रों में स्थानांतरित किए जा सकते हैं।

IAS अधिकारी भारत के नेतृत्व के साथ-साथ संचालन व विकास का महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। उन्हें अपने कार्यक्षेत्रों में नीतियों, कानूनों और आदेशों को प्रभावी ढंग से लागू करना होता है, जिससे वह देश के समृद्धि और विकास के लिए अहम योगदान होता हैं।

आईएएस ऑफिसर कैसे बने

आईएएस ऑफिसर कैसे बने In Hindi

अगर आप आईएएस ऑफिसर बनाना चाहते हैं तो आपको इसके लिए कुछ स्टेप्स फॉलो करना होगा:

योग्यता मानदंड:

आईएएस अधिकारी बनने के लिए आपको भारतीय नागरिक होना जरूरी है और आपकी उम्र 21 से 32 साल के बीच होनी चाहिए। इसके अलावा आपको स्नातक होना भी जरूरी है।

सिविल सेवा परीक्षा:

आईएएस अधिकारी बनने के लिए सिविल सेवा परीक्षा (सीएसई) देना होगा, जो यूपीएससी (संघ लोक सेवा आयोग) आयोजित करता है। सीएसई में आपको प्रीलिम्स, मेंस और इंटरव्यू के राउंड क्लियर करना होगा। सीएसई परीक्षा के लिए तैयारी के लिए कोचिंग संस्थान ज्वाइन कर सकते हैं और आपको करेंट अफेयर्स, जनरल नॉलेज, रीजनिंग, एप्टीट्यूड और इंग्लिश लैंग्वेज की नॉलेज होनी चाहिए।

अपना वैकल्पिक विषय चुनें:

मुख्य परीक्षा में आपको एक वैकल्पिक विषय चुनना होता है। आपको अपनी रुचि और अकादमिक पृष्ठभूमि के हिसाब से एक विषय चुनना चाहिए।

फिजिकल फिटनेस:

आईएएस ऑफिसर्स को फिजिकली फिट रहना जरूरी है। इसके लिए आपको नियमित व्यायाम और अच्छी डाइट मेंटेन करनी होगी।

इंटरव्यू की तैयारी:

फाइनल स्टेज में आपको इंटरव्यू के लिए तैयारी करनी होगी। इसके लिए आपको कम्युनिकेशन स्किल्स को बेहतर बनाना होगा और आपको राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय मुद्दों के बारे में बताना चाहिए।

आईएएस अधिकारी बनने के लिए लगातार प्रयास, समर्पण और कड़ी मेहनत की जरूरत होती है। अगर आपको आईएएस ऑफिसर बनाना है तो आपको मेहनत करने की जरूरत होगी और अपने सपनों को पूरा करने के लिए फोकस और दृढ़ संकल्प से काम करना होगा।

 

आईएएस बनने के लिए शीर्ष 10 पुस्तकें ।। 10 Must-Have Books for IAS Aspirants

 आज हम यूपीएससी परीक्षा की तैयारी कर रहे आईएएस उम्मीदवारों के लिए top 10 most  important books के बारे में बात करने जा रहे हैं।

  • 1    “India’s Struggle for Independence” by Bipan Chandra:  यह book भारत के स्वतंत्रता आंदोलन का व्यापक और गहन विश्लेषण प्रदान करती है। इसमें उन प्रमुख घटनाओं और व्यक्तित्वों को शामिल किया गया है जिन्होंने भारत के भविष्य को आकार देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।
  •   “Introduction to the Constitution of India” by D.D. Basu : यह पुस्तक भारतीय संविधान के लिए एक best guide  है और इसके सभी प्रावधानों और संशोधनों का विस्तृत विश्लेषण प्रदान करती है।
  •  “Indian Polity” by M. Laxmikanth : यह पुस्तक भारतीय संविधान, राजनीतिक प्रणाली और प्रशासन जैसे विषयों को शामिल करते हुए भारतीय राजनीतिक व्यवस्था के लिए एक best guide  है।
  •  “Economic Survey” by Ministry of Finance:: यह पुस्तक वित्त मंत्रालय का एक वार्षिक प्रकाशन है और विभिन्न क्षेत्रों, मुद्रास्फीति और विकास दर पर डेटा सहित भारतीय अर्थव्यवस्था का एक puri detail प्रदान करती है।
  •   “Geography of India” by Majid Husain: यह पुस्तक जलवायु, स्थलाकृति और प्राकृतिक संसाधनों जैसे विषयों को शामिल करते हुए भारत के भौतिक और मानव भूगोल का गहन विश्लेषण प्रदान करती है।
  • A Brief History of Modern India” by Spectrum: यह पुस्तक भारत के भविष्य को आकार देने वाली प्रमुख घटनाओं और व्यक्तित्वों सहित भारत के आधुनिक इतिहास का एक detailed analysis प्रदान करती है।
  •  “The Hindu” newspaper:  द हिंदू भारत के प्रमुख news papers में से एक है और politics, economics और current affairs मामलों सहित विभिन्न विषयों पर जानकारी का खजाना प्रदान करता है।
  • NCERT Books“: NCERT पुस्तकें इतिहास, भूगोल और अर्थशास्त्र सहित विभिन्न विषयों का detailed analysis प्रदान करती हैं और IAS परीक्षा के लिए आवश्यक हैं।
  •   “Standard Reference Books”:”: “Standard Reference Books”:, जैसे कि ऑक्सफोर्ड स्टूडेंट एटलस और ऑक्सफोर्ड इंग्लिश-हिंदी डिक्शनरी भी आईएएस परीक्षा के लिए आवश्यक हैं और विभिन्न विषयों पर जानकारी का खजाना प्रदान करती हैं।
  •   “Past Year Question Papers“: पिछले वर्ष के प्रश्न पत्र आईएएस उम्मीदवारों के लिए एक great resource  हैं, क्योंकि वे exam में पूछे जाने वाले प्रश्नों ka aapko ak idea btate  हैं।

यूपीएससी परीक्षा की तैयारी कर रहे आईएएस उम्मीदवारों के लिए ये शीर्ष 10 जरूरी किताबें हैं। अपनी अध्ययन योजना में इन पुस्तकों को शामिल करने से, आपको परीक्षा में शामिल विषयों की व्यापक समझ होगी और आपकी सफलता की संभावना बढ़ जाएगी।

आईएएस परीक्षा प्रारूप (Exam Format)

  • प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Examination)
  • मुख्य परीक्षा (Main Examination)
  • साक्षात्कार (Interview)

प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Examination)

प्रारंभिक परीक्षा में प्रश्न पत्र इस प्रकार से आता है |

क्र०सं० प्रश्न पत्र अंक
1 सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र I (वस्तुनिष्ठ) 200
2 सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र II (वस्तुनिष्ठ) 200

आईएएस मुख्य परीक्षा (IAS Main Examination)

क्र०सं० प्रश्न पत्र अंक
1. सामान्य अध्ययन  (प्रश्नपत्र –I) 250
2. सामान्य अध्ययन  (प्रश्नपत्र –II) 250
3. सामान्य अध्ययन  (प्रश्नपत्र –III) 250
4. सामान्य अध्ययन  (प्रश्नपत्र –IV) 250
5. वैकल्पिक विषय (प्रश्नपत्र –I) 250
6. वैकल्पिक विषय (प्रश्नपत्र –II) 250
7. निबंध लेखन 250
8. अंग्रेज़ी (अनिवार्य) 300
9. भारतीय भाषा (अनिवार्य) 300

IAS साक्षात्कार (Interview)

परीक्षा का नाम अंक
साक्षात्कार 275

आईएएस ऑफिसर की ट्रेनिंग कैसे होती है (IAS Officer Training) ?

आईएएस ऑफिसर की ट्रेनिंग दो भागों में होती है – फाउंडेशन कोर्स और बेसिक ट्रेनिंग.

फाउंडेशन कोर्स: यह एक आधुनिक अध्ययन केंद्र की तरह होता है जहां अभ्यर्थी अलग-अलग विषयों पर पढ़ाई करते हैं। इसका मुख्य उद्देश्य अभ्यर्थियों को सिविल सेवा परीक्षा के सिलेबस के अनुसार विषयों की समझ, ज्ञान और कौशल में सुधार करना होता है। फाउंडेशन कोर्स का अवधि 3 महीने तक होती है.

बेसिक ट्रेनिंग: जिन अभ्यर्थियों को फाउंडेशन कोर्स में चुना जाता है, उन्हें बेसिक ट्रेनिंग दी जाती है। इसका मुख्य उद्देश्य अभ्यर्थियों को अधिकारियों के रूप में काम करने के लिए तैयार करना होता है। इस ट्रेनिंग के दौरान अभ्यर्थियों को प्रशासनिक क्षेत्रों में काम करने का ज्ञान दिया जाता है, जिसमें लॉ एंड ऑर्डर, लॉ एंड जस्टिस, आर्थिक विकास, आदि शामिल होते हैं। बेसिक ट्रेनिंग का अवधि 15 महीने तक होती है.

ट्रेनिंग के दौरान, आईएएस अधिकारियों को विभिन्न विषयों पर अधिक ज्ञान प्रदान किया जाता है, जैसे अर्थशास्त्र, व्यावसायिक उन्नयन, सामाजिक विज्ञान, विविधता व्यवस्था, नृत्य, संगीत, इतिहास आदि। इसके अलावा, उन्हें नैतिक एवं नैतिक मूल्यों का भी ज्ञान प्रदान किया जाता है। आईएएस अधिकारी ट्रेनिंग के दौरान दो ट्रेनिंग संस्थानों से गुजरते हैं – एमपी के लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी (LBSNAA) मुस्सूरी और एमपी के जैविक तकनीकी अनुसंधान संस्थान (MPTI) उज्जैन।

LBSNAA मुस्सूरी में आईएएस अधिकारियों को प्रशिक्षित किया जाता है जो केंद्र सरकार के विभिन्न विभागों में काम करते हैं। ट्रेनिंग के अंत में, आईएएस अधिकारी अपने विभागों में तैनात किए जाते हैं और नई पोस्ट के लिए नौकरी के लिए चयनित किए जाते हैं।

IAS Officer Salary 2023 आईएएस की सैलरी व सुविधा (भत्ता)

आईएएस अधिकारियों को सरकार द्वारा नियुक्त किया जाता है और इनकी वेतन और सुविधाएं सरकार द्वारा तय की जाती हैं। आईएएस अधिकारी की सैलरी वेतनमान स्केल के आधार पर तय की जाती है।

एक नई नियुक्ति प्रारंभिक वेतन 56100 रुपये प्रति माह होता है। इसके अलावा, अधिकारियों को भत्ते, डियरेंस, रिपोर्टिंग, पोस्ट भत्ते, विशेष भत्ते, प्रतिस्पर्धात्मक भत्ते आदि भी दिए जाते हैं।

आईएएस अधिकारी को अन्य सरकारी कर्मचारियों की तरह, रहने के लिए मुफ्त आवास भी प्रदान किया जाता है। वे अपनी स्थानीय प्रशासनिक कार्यालय में जो नौकरी करते हैं, वहां से अपने आवास तक की खर्चे की भी सुविधा होती है। इसके अलावा, आईएएस अधिकारियों को भी अन्य सरकारी कर्मचारियों की तरह कर्मचारी कल्याण योजना, अस्पताल और अन्य सुविधाएं प्रदान की जाती हैं।

इस प्रकार, आईएएस अधिकारी की सैलरी और सुविधाएं सरकार द्वारा तय की जाती हैं

आईएएस ऑफिसर की जिम्‍मेदारी व पावर

आईएएस अधिकारी भारतीय संविधान के अनुसार देश के विभिन्न क्षेत्रों में शासन व्यवस्था के लिए जिम्मेदार होते हैं। इनके पास विशेष शक्तियां और अधिकार होते हैं जो इन्हें अन्य सार्वजनिक कर्मचारियों से अलग बनाते हैं।

आईएएस अधिकारी की कुछ महत्वपूर्ण शक्तियां और अधिकार निम्नलिखित हैं:

  1. क्षेत्र समाधिकार: आईएएस अधिकारी के पास उनके क्षेत्र में समाधिकार होता है, जिससे वे वहां की सार्वजनिक नीतियों और आदेशों का पालन करवा सकते हैं। वे अपने क्षेत्र में अन्य सभी सार्वजनिक सेवाओं के लिए जिम्मेदार होते हैं।
  2. कानूनी शक्तियां: आईएएस अधिकारी विभिन्न कानूनों और अधिनियमों का पालन करवा सकते हैं और उनका उपयोग कर सकते हैं। वे दंडाधिकारी के रूप में काम करते हैं जिससे वे अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई कर सकते हैं।
  3. वित्तीय शक्ति: आईएएस अधिकारी विभिन्न वित्तीय नियोजनों का पालन करवा सकते हैं
  4. व्यवस्थापकीय शक्ति: आईएएस अधिकारी अपने क्षेत्र में सार्वजनिक सेवाओं को व्यवस्थित करने और उन्हें बेहतर बनाने के लिए नीतियों का पालन करवा सकते हैं। वे विभिन्न सार्वजनिक योजनाओं के लिए निर्देशक होते हैं और संचालन करते हैं।
  5. न्यायाधीश की शक्तियां: आईएएस अधिकारी के पास न्यायाधीश के रूप में शक्तियां होती हैं। वे न्यायिक शास्त्रों के अनुसार काम करते हैं और मुकदमों के निर्णय देते हैं।
  6. समाज सेवा: आईएएस अधिकारी समाज सेवा के लिए भी जिम्मेदार होते हैं। वे सामाजिक समस्याओं को हल करने के लिए कार्य करते हैं और सामाजिक योजनाओं को विकसित करते हैं।

इसके अलावा, आईएएस अधिकारी के पास अन्य शक्तियां भी होती हैं जैसे कि संचार, संस्थागत व्यवस्था, प्रशासनिक नीति निर्माण, विकास के लिए प्रोत्साहन और अन्य शक्तियां।

FAQ

1 साल में कितने लोग आईएएस बनते हैं?

भारत में IAS (Indian Administrative Service) बनना बहुत संघर्षपूर्ण होता है और इसके लिए लाखों उम्मीदवार हर साल UPSC (Union Public Service Commission) की परीक्षा देते हैं। हर साल लगभग 10-12 लाख उम्मीदवार UPSC CSE (Civil Services Examination) परीक्षा के लिए आवेदन करते हैं। इस परीक्षा में उम्मीदवारों को कई राउंडों से गुजरना पड़ता है, जिसमें प्रीलिम्स, मेन्स और इंटरव्यू शामिल होते हैं।

UPSC CSE परीक्षा में सफल होना बहुत मुश्किल होता है और इस परीक्षा में अन्य बहुत सारी सरकारी पदों के साथ-साथ IAS के लिए भी चयन होता है। हर साल लगभग 800-1000 उम्मीदवारों को अंततः IAS अधिकारी के रूप में चयनित किया जाता है।

12वी के बाद आईएएस ऑफिसर कैसे बने  ?

आप 12वी के बाद आईएएस परीक्षा के लिए योग्य नहीं है, इसके लिए आपको पहले ग्रेजुएशन पूरा करना होगा |

निष्कर्ष (Conclusion)

IAS (भारतीय प्रशासनिक सेवा) अधिकारी बनना भारत में एक अत्यधिक प्रतिस्पर्धी और प्रतिष्ठित करियर विकल्प है। एक IAS अधिकारी बनने के लिए, एक मजबूत समर्पण और भारतीय सिविल सेवा परीक्षा पैटर्न की गहरी समझ होनी चाहिए।

Leave a comment